कोरोनावायरस: पीएम मोदी का बड़ा फैसला, इस बार किसी भी होली मिलन समारोह में नहीं होंगे शामिल

 

भारत में कोरोनावायरस की पुष्टि होने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि वो इस साल किसी भी होली मिलन समारोह में शामिल नहीं होंगे। प्रधानमंत्री मोदी ने बुधवार को कहा कि कोरोनावायरस को फैलने से रोकने के संबंध में विशेषज्ञों की सलाह को ध्यान में रखते हुए वह इस बार किसी होली मिलन कार्यक्रम में हिस्सा नहीं लेंगे।
प्रधानमंत्री ने अपने ट्वीट में कहा, ‘दुनिया भर में विशेषज्ञों की सलाह है कि नोवेल कोरोनावायरस कोविड-19 को फैलने से रोकने के लिये सामूहिक कार्यक्रमों को कम करना चाहिए। इसलिए इस वर्ष मैंने किसी होली मिलन कार्यक्रम में हिस्सा नहीं लेने का निर्णय किया है।’

वहीं, भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने भी होली नहीं मनाने की बात कही है। उन्होंने कहा कि दुनिया कोरोनावायरस से जूझ रही है। देश और चिकित्सक संयुक्त रूप से इसके प्रसार को रोकने के प्रयास कर रहे हैं। इसे ध्यान में रखते हुए, इस वर्ष, मैं न तो होली मनाऊंगा और न ही होली मिलन का आयोजन करूंगा।

मंगलवार को प्रधानमंत्री मोदी ने कोविड-19 नोवेल कोरोनावायरस से निपटने की तैयारी का जायजा लिया था। प्रधानमंत्री ने कहा था कि कोविड-19 नोवेल कोरोनावायरस के मद्देनजर तैयारी की गहन समीक्षा की। भारत आने वाले लोगों की स्क्रीनिंग से लेकर तुरंत चिकित्सा प्रदान करने तक की समस्त गतिविधियों के लिए विभिन्न मंत्रालय मिलकर काम कर रहे हैं और घबराने की कोई जरूरत नहीं है।

 

बता दें कि देश में अब तक कोरोनावायरस के छह पॉजिटिव केस सामने आ चुके हैं। इनमें तीन केरल के थे, जिन्हें उपचार के बाद घर भेज दिया गया। तीन मरीज दिल्ली, जयपुर और तेलंगाना में मिले, जिनका इलाज चल रहा है।

वहीं, जयपुर में मिले इटली के संक्रमित मरीज की पत्नी की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है। सभी की हालत फिलहाल स्थिर है। कोरोनावायरस से निपटने के लिए दिल्ली सरकार द्वारा किए जा रहे प्रबंधन और तैयारियों को लेकर बैठक हो रही है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन दिल्ली सरकार के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक कर रहे हैं।

नोएडा में छह लोगों की रिपोर्ट निगेटिव
नोएडा में कोरोना वायरस के संदेह में तीन बच्चों समेत जिन छह लोगों के नमूने लिए गए थे, उनकी जांच निगेटिव पाई गई है। हालांकि सभी छह लोगों को अगले 14 दिन के लिए अपने-अपने घर में अलग-थलग रहने को कहा गया है। अधिकारियों ने बताया कि अगर उनमें कोविड-19 के लक्षण नजर आते हैं तो उनके नमूनों की फिर से जांच की जाएगी। नोएडा स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के मुताबिक मंगलवार को जिन लोगों के नमूने लिए थे उनमें एक दंपति और 12 वर्ष का उनका बेटा, एक महिला और उसके दो बच्चे शामिल थे। ये छह लोग दिल्ली के एक व्यक्ति द्वारा दी गई पार्टी के दौरान उसके संपर्क में आ गए थे। इस व्यक्ति में कोरोना वायरस की पुष्टि हुई थी। प्रशासन ने आज फिर साफ किया है कि स्कूल बंद करने के संबंध में कोई आदेश नहीं दिया गया है।

Check Also

विधानसभा सत्र में मंत्रियों को संक्रमित करने पहले मंत्री जी हो गए कोरोना +ve

लखनऊ. उत्तर प्रदेश विधानसभा का सत्र आज से शुरू हो गया है। यह सत्र तीन ...