प्रणब मुखर्जी का निधन, वेटिंलेटर पर रहे 15 दिन, कोरोना का भी था संक्रमण

 

देश के पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी (Pranab Mukherjee) नहीं रहे. वह दिल्ली स्थित सेना के अस्पताल में भर्ती थे. अस्पताल की ओर से बताया गया है कि फेफड़ों में संक्रमण की वजह से सेप्टिक शॉक की स्थिति पैदा हो गई . प्रणब मुखर्जी की इस महीने ब्रेन सर्जरी हुई थी, जिसके बाद से वह कोमा में थे।

बीते दिनों पूर्व राष्ट्रपति की तबीयत बिगड़ने के बाद उन्हें सेना के अस्पताल में भर्ती कराया गया था. अस्पताल में भर्ती के दौरान की गई जांच में उनके कोरोनावायरस (Coronavirus) से संक्रमित होने की भी पुष्टि हुई थी. बाद में उनके फेफड़े में संक्रमण हो गया. अस्पताल की ओर से बताया गया था कि उनके गुर्दे भी ठीक से काम नहीं कर रहे थे. गौरतलब है कि प्रणब मुखर्जी साल 2012 से 2017 तक देश के 13वें राष्ट्रपति रहे थे.

Check Also

हाईकोर्टः प्राथमिक शिक्षकों के अंतर्जनपदीय तबादलों की बड़ी खबर, लेकिन कुछ नियम हैं अहम

इलाहाबाद. हाईकोर्ट के एक फैसले से यूपी सरकार को भी बड़ी राहत मिली है। अब ...