Tuesday , October 4 2022

आगरा में तेजी से वायरल बुखार की चपेट में आ रहे हैं बच्चे, जानिए वजह

आगरा के आसपास के जिलों में वायरल बुखार का कहर तेजी से बढ़ता जा रहा है .स्वास्थ्य विभाग ने अलर्ट जारी कर दिया है. उत्तर प्रदेश सरकार ने रैपिड रिस्पांस टीम गठित कर दी है. इसके साथ ही स्वास्थ्य विभाग के द्वारा एक कंट्रोल रूम का नंबर भी जारी किया है .यहां आप बुखार से पीड़ित मरीजों की सूचना दे सकते हैं. आगरा एसएन मेडिकल कॉलेज में ज्यादातर वायरल बुखार से पीड़ित मरीजों संख्या में इजाफा हुआ है. साथ ही बच्चों को यह बीमारी तेजी से जकड़ रही है .

कोरोना का प्रकोप अभी पूरी तरह से खत्म भी नहीं हुआ है. अधिकांश विशेषज्ञ तीसरी लहर आने की संभावना जता रहे हैं. लेकिन तीसरी लहर से पहले वायरल बुखार ने बच्चों को जकड़ लिया है. आसपास के जिलों में तेजी से छोटे बच्चों को यह बुखार अपनी चपेट में ले रहा है .जिसके बदौलत अब एसएन मेडिकल कॉलेज समेत तमाम प्राइवेट अस्पतालों में छोटे बच्चों की संख्या बढ़ती जा रही है.

हाल ही में पशुओं से फैलने वाला वायरस स्क्रब टायफस सामने आया है .जो आसपास के जिलों में तेजी से लोगों को अपना शिकार बना रहा है. यह वायरस पशु पक्षियों और जानवरों से इंसान में फैलता है .आम तौर पर ग्रामीण इलाकों में यह लोगों को बड़ी तेजी से अपनी चपेट में ले रहा है. एसएन मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य प्रशांत गुप्ता ने बताया कि यह एक तरह का कीड़ा होता है जो पशु पक्षियों से चिपका रहता है . जिसके काटने से मनुष्य को तेज बुखार ,उल्टी दस्त ,चक्कर आते हैं. इससे बचने के लिए इंसानों को फिलहाल पशुओं से दूर रहना चाहिए .बाहर की चीजों खाने से बचना चाहिए. पक्षियों के द्वारा कुतरे गए फलों को नहीं खाना चाहिए.

यह गनीमत है कि आगरा में अभी इस वायरस का एक भी मरीज नहीं है. आसपास के जिले मथुरा ,फिरोजाबाद जिलों में इस रोग से संक्रमित मरीजों की पुष्टि हुई है. लेकिन फिर भी आगरा का स्वास्थ्य विभाग स्क्रब टायफस(scrub typhus) को लेकर अलर्ट पर है. इसे रोकने के लिए हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

one × three =