Tuesday , October 4 2022

राहुल का घटिया प्रदर्शन

लंदन: इंग्लैंड के खिलाफ लॉर्ड्स टेस्ट मैच में शतक जड़ने के बाद लगा कि केएल राहुल के तौर पर टीम इंडिया को बेस्ट ओपनर मिल गया है, लेकिन टीम इंडिया का ये भरोसा चकनाचूर हो गया. केएल राहुल ने सिर्फ एक मैच में शतक जड़ने के बाद लगातार चार पारियों में घटिया प्रदर्शन किया है. राहुल ने इंग्लैंड के खिलाफ लॉर्ड्स टेस्ट मैच में 129 रनों की पारी खेली थी.

लॉर्ड्स टेस्ट मैच में शतक जड़ने के बाद केएल राहुल के बल्ले से अगली चार पारियों में सिर्फ 5, 0, 8, 17 रनों के स्कोर निकले हैं. राहुल के इस घटिया प्रदर्शन के कारण टीम इंडिया को अच्छी शुरुआत नहीं मिल रही. ऐसे में उन्हें प्लेइंग इलेवन से बाहर बिठाने का समय आ गया है, क्योंकि राहुल अपने प्रदर्शन पर निरंतरता नहीं रख पा रहे हैं. अब राहुल का जिगरी दोस्त ही टीम इंडिया से उनका पत्ता काटेगा.

टीम इंडिया से अब केएल राहुल का जिगरी दोस्त मयंक अग्रवाल ही टीम इंडिया से उनका पत्ता काटेगा. बता दें कि डोमेस्टिक क्रिकेट में केएल राहुल और मयंक अग्रवाल कर्नाटक के लिए क्रिकेट खेलते हैं और दोनों एकदूसरे के अच्छे दोस्त हैं. ये दोनों ही बल्लेबाज IPL में पंजाब किंग्स के लिए भी पारी की शुरुआत करते हैं. अब आने वाले समय में मयंक अग्रवाल और रोहित शर्मा की जोड़ी टेस्ट में टीम इंडिया के लिए ओपनिंग कर सकती है.
मयंक अग्रवाल ऑस्ट्रेलिया के महान बल्लेबाज डॉन ब्रैडमैन से भी ज्यादा खतरनाक है. मयंक अग्रवाल को आखिरी बार ब्रिसबेन टेस्ट में खेलने का मौका मिला था. इंग्लैंड के खिलाफ पहले तीन टेस्ट मैचों में भी मयंक अग्रवाल नहीं खेल पाए थे, लेकिन चौथे टेस्ट मैच में उन्हें मौका मिल सकता है. मयंक अग्रवाल के नाम टेस्ट में 1000 से ज्यादा रन हैं और उनका औसत भी 45.73 का रहा है. मयंक अग्रवाल ने अब तक भारत की तरफ से 14 टेस्ट मैचों में करीब 46 की औसत से 1052 रन बनाए हैं. उन्होंने 23 पारियों में तीन शतक और चार अर्धशतक जड़ा है. घरेलू मैदानों पर मयंक अग्रवाल का औसत ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज बल्लेबाज डॉन ब्रैडमैन से भी ज्यादा खतरनाक है. अग्रवाल ने भारतीय सरमजीं पर 215, 108 और 243 रनों की पारियां खेली है.

अग्रवाल ने भारतीय धरती पर 5 टेस्ट मैचों में तीन शतक की बदौलत 597 रन बनाए हैं और उनका औसत 99.5 का है. घरेलू मैदानों पर पांच या इससे अधिक टेस्ट मैच खेलने वाले बल्लेबाजों में मयंक अग्रवाल का औसत सबसे बेहतर है. उनके बाद ब्रैडमैन का नंबर है जिन्होंने ऑस्ट्रेलियाई सरजमीं पर 33 टेस्ट मैचों में 98.22 की औसत और 18 शतक की बदौलत 4,322 रन बनाए हैं. ओपनिंग बल्लेबाजी में मयंक अग्रवाल को बड़ा दावेदार माना जा रहा है. मयंक अग्रवाल के पास टेस्ट क्रिकेट का अच्छा अनुभव है. ओपनिंग बल्लेबाजी में मयंक अग्रवाल बेहतर विकल्प हो सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

12 + 10 =