Thursday , August 4 2022

नीरज चोपड़ा ने सिल्वर मेडल जीतकर भारत के 19 साल के सूखे को खत्म किया

नई दिल्ली। ओरेगन में चल रहे 18वें वर्ल्ड एथलेटिक्स चैंपियनशिप में आखिरकार वो हुआ जिसका इंतजार पूरा भारत कर रहा था। जैवलिन थ्रो के फाइनल इवेंट में देश नीरज से मेडल की आस लगाए बैठे था और उन्होंने देशवासियों को निराश नहीं किया। नीरज ने अपने चौथे प्रयास में 88.13 मीटर दूर भाला फेंक कर सिल्वर पर निशाना साधा और वर्ल्ड एथलेटिक्स में सिल्वर जीतने वाले पहले एथलीट बन गए।

भारत के 19 साल के सूखे को खत्म किया

नीरज चोपड़ा ने सिल्वर मेडल जीतकर भारत के 19 साल के सूखे को खत्म किया है। इससे पहले वर्ल्ड एथलेटिक्स चैंपियनशिप में केवल ब्रोंज मेडल था। लेकिन अब वर्ल्ड एथलेटिक्स चैंपियनशिप में सिल्वर भारत का बेस्ट प्रदर्शन है। इससे पहले अंजू बाबी जार्ज ने लंबी कूद में भारत को ब्रोंज मेडल दिलाकर चैंपियनशिप में भारत के लिए पहला मेडल अपने नाम किया था।

मुझे खुद पर विश्वास था

सिल्वर मेडल जीतकर इतिहास रचने वाले नीरज चोपड़ा ने जीत के बाद कहा कि तीसरे थ्रो के बाद भी मुझे खुद पर विश्वास था और मैंने सिल्वर मेडल जीतकर वापसी की, अच्छा लग रहा है। मैं अगले चैंपियनशिप में मेडल का रंग बदलने की कोशिश करूंगा।
नीरज का पहला और पाचवां प्रयास फाउल रहा था। इस पर नीरज चोपड़ा ने कहा कि स्थितियां अच्छी नहीं थीं और हवा की गति बहुत अधिक थी, मुझे विश्वास था कि मैं अच्छा प्रदर्शन करूंगा। मैं परिणाम से संतुष्ट हूं, मुझे खुशी है कि मैं अपने देश के लिए पदक जीतने में सफल हुआ।

एंडरसन पीटर्स पर नीरज ने कहा

गोल्ड जीतने वाले एंडरसन पीटर्स पर नीरज ने कहा कि यह आसान लग सकता है लेकिन एंडरसन ने 90 मीटर को पार करने के लिए बहुत बड़ा प्रयास किया होगा। वह इस साल कमाल का प्रदर्शन कर रहे हैं और लगातार 90 मीटर से ऊपर भाला फेंक रहे हैं। मुझे खुशी है कि उन्होंने इतनी मेहनत की है। यह मेरे लिए भी अच्छा है कि मेरे पास अच्छी प्रतिस्पर्धा है।

गोल्ड जीतने पर उनकी मां सरोज देवी ने खुशी जताते हुए कहा

नीरज के गोल्ड जीतने पर उनकी मां सरोज देवी ने खुशी जताते हुए कहा कि उन्हें पूरा भरोसा था कि उनका बेटा मेडल जीतेगा। गोल्डन बॉय को इतिहास रचने पर प्रधनामंत्री मोदी समेत अन्य लोगों ने बधाई दी है। किसी ने लिखा कि युवा शक्ति को बधाई तो वहीं किसी ने कहा कि वीर भोग्य वसुंधरा। इसका मतलब है कि वीर और शक्तिशाली लोग ही इस धरती का उपभोग कर सकते हैं।

एकबार फिर ओलंपिक चैंपियन ने किया खुद को साबित

28 जुलाई से शुरू हो रहे कामनवेल्थ गेम्स को लेकर नीरज चोपड़ा ने कहा कि वहां मैं वहां अपना बेस्ट दूंगा। आपको बता दें कि 2018 कामनवेल्थ गेम्स में उन्होंने गोल्ड मेडल हासिल किया था। इस साल नीरज का प्रदर्शन लगातार अच्छा रहा है ऐसे में उनसे कामनवेल्थ गेम्स में गोल्ड की उम्मीद है।

गोल्ड जीतने पर उनकी मां सरोज देवी ने खुशी जताते हुए कहा

नीरज के गोल्ड जीतने पर उनकी मां सरोज देवी ने खुशी जताते हुए कहा कि उन्हें पूरा भरोसा था कि उनका बेटा मेडल जीतेगा। गोल्डन बॉय को इतिहास रचने पर प्रधनामंत्री मोदी समेत अन्य लोगों ने बधाई दी है। किसी ने लिखा कि युवा शक्ति को बधाई तो वहीं किसी ने कहा कि वीर भोग्य वसुंधरा। इसका मतलब है कि वीर और शक्तिशाली लोग ही इस धरती का उपभोग करते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

four × 1 =

E-Magazine