Wednesday , August 10 2022

कुहू स्वप्न की है आला

लखनऊ: माँ दुर्गा साहित्यिक एवं सांस्कृतिक व कुछ बात व जज़बात मंच के संयोजन मे जन्म दिन विशेष कार्यक्रम का आयोजन किया गया। ये कार्यकम बेटी बचा ओ बेटी पढा ओ पर आधारित था कार्यक्रम की अध्यक्षता नीलम राकेश वरिष्ठ बाल साहित्यकार रही मुख्य अतिथि डॉ अलका प्रमोद देश की मानी-जानी बाल साहित्यकार रही विशिष्ट अतिथि केवल प्रसाद सत्यम जी संस्था के सरक्षक जी रहे । कार्यक्रम का ऊद्द्देश्य समाज मे घट रही बेटियों की दर को सामान्य करना होगा आज कुहू के जन्म दिन व पीकु के जनम दिन की पूर्व सन्ध्या पर इस आयोजन को रखा गया जो की देश व समाज का बहुत बड़ा हिस्सा है कार्यक्रम का संचालन कवयित्री अलका अस्थाना अमृतमयी ने किया जो संस्था की संस्थापक है साथ मे माँ वीणा पाणि की वन्दना बाल कवयित्री अनीता सिन्हा के द्वारा शुभा रंभ किया गय।उसके बाद अल्का अस्थना ने बिटिया पर एक गीत सुनाया बिटिया आँगन आयी है।
फुलवारी भर छायी है।
माँ जीवन हो उजाला
कुहू स्वप्न की है आला।
उसी कड़ी मे कुछ बात ज़ज्बात के संस्थापक कवि संजय निराला जी को बाल विहार से विभूषित किया गयाअध्यक्ष जी ने दोनो बेटियो को आशीष देते हे पंक्तियो मे पिरोया
अल का प्रमोद जी ने
आज जन्मदिन है दोनों का
कुहू पीकू को आशीर्वाद
जियें शत शत साल ये दोनों
दिवस आज का बहुत है खास ने सुनाया
केवल सत्यम ने
देश प्रेम से सीख लें, त्याग तपस्या दान।
जीवन रहने तक कभी, सहे नहीं अपमान।।1

देश बड़ा निज प्राण से, रखिए इतना ध्यान।
राजा कोई भी नहीं, सब जन एक समान। संजय निराला ने सुना या
हाथी घोड़ा चुन् मु न जैसे
खूब खिलौ ने भाये
बिटिया के आने से ही खुशियाँ भर भर छाये गोबर गणेश जी ने हास्य कविता से सभी का मन मोह लिया।धन्यवाद ज्ञापन केवल प्रसाद सत्यम ने किया

Leave a Reply

Your email address will not be published.

one + 18 =

E-Magazine