Monday , December 25 2023

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अगले महीने ब्रिटेन की यात्रा कर सकते, FTA पर हस्ताक्षर के आसार

मामले के जानकार अधिकारी ने बताया, ‘भारत और ब्रिटेन को विश्वास है कि दिवाली से FTA पर सहमति बन जाएगी। दोनों देशों के प्रधानमंत्रियों की उपस्थिति में व्यापार मंत्री हस्ताक्षर करेंगे।’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अगले महीने ब्रिटेन की यात्रा कर सकते हैं। इस दौरान द्विपक्षीय मुक्त व्यापार समझौता (FTA) पर हस्ताक्षर होने के आसार हैं। दोनों देशों के बीच FTA को लेकर पांच दौर की बातचीत हो चुकी है। ज्यादातर बातों पर सहमित बन गई है और बचे हुए कुछ मामलों को जल्द ही सुलझा लिया जाएगा। माना जा रहा है कि दिवाली तक सहमति अपने अंतिम चरण में होगी, जो कि 24 अक्टूबर को सेलिब्रेट की जानी है।

मामले के जानकार एक अधिकारी ने बताया, ‘भारत और ब्रिटेन को विश्वास है कि दिवाली से FTA पर सहमति बन जाएगी। दोनों देशों के प्रधानमंत्रियों की उपस्थिति में व्यापार मंत्रियों की ओर से इस पर हस्ताक्षर किए जाएंगे। पीएम मोदी के ब्रिटेन दौरे की जानकारी अक्टूबर के पहले हफ्ते में सार्वजनिक की जा सकती है। यह यात्रा दिवाली के आसपास ही होने के आसार हैं। हालांकि, इसे लेकर अभी तक कोई आधिकारिक बयान जारी नहीं किया गया है।’

‘रोजगार के नए अवसर होंगे पैदा’ 
भारत में ब्रिटेन के उच्चायुक्त एलेक्स एलिस ने हाल ही में कहा था कि दिवाली का त्योहार मनाने का सबसे अच्छा तरीका एफटीए को पूरा करना होगा। उन्होंने कहा, ‘दोनों देशों के बीच एफटीए समझौता होने से न सिर्फ आर्थिक वृद्धि को रफ्तार मिलेगी, बल्कि रोजगार के भी नए अवसर पैदा होंगे। इस व्यापार समझौते पर दिवाली के त्योहार तक हस्ताक्षर हो जाने की काफी उम्मीद है। भारत और ब्रिटेन ने इस समझौते को दिवाली तक पूरा करने की जो समयसीमा तय की हुई है, वह एक शुभ तिथि साबित होगी।’

‘भारत के निर्यात को मिलेगा बढ़ावा’
उद्योग व वाणिज्य मंत्रालय में संयुक्त सचिव राजेंद्र रत्नू ने कहा कि दोनों ही देशों के नेता इस व्यापार समझौते को लेकर दृढ़प्रतिज्ञ हैं। इस समझौते से कपड़ा, चमड़ा, आभूषण व प्रसंस्कृत खाद्य उत्पाद जैसे श्रम-बाहुल्य क्षेत्रों में भारत के निर्यात को काफी बढ़ावा मिलने की उम्मीद है। मालूम हो कि मुक्त व्यापार समझौते से दोनों देशों के बीच अधिकांश उत्पादों और सेवाओं का व्यापार लगभग निःशुल्क हो जाएगा। इससे द्विपक्षीय व्यापार को प्रोत्साहन मिलने की उम्मीद है। 

ब्रिटेन के विदेश मंत्री ने क्या कहा?
ब्रिटेन के विदेश मंत्री जेम्स क्लेवरली ने भी इस मामले पर अहम बयान दिया है। उन्होंने कहा, ‘भारत और ब्रिटेन के बीच द्विपक्षीय संबंध व्यापक और पुराने हैं। इसलिए बहुत अधिक व्यापक, अर्थपूर्ण मुक्त व्यापार समझौता करने की आकांक्षा भी है। निश्चित ही प्रधानमंत्री मोदी ने दीपावली तक मुक्त व्यापार समझौता करने का बहुत ही महत्वाकांक्षी लक्ष्य रखा है। इसका मतलब है कि हमें और भारतीय वार्ताकारों को बहुत मेहनत करनी होगी और हम इसके लिए तैयार हैं