Monday , November 28 2022

कांग्रेस सिर्फ छोटे दलों के साथ गठबंधन करेगी – प्रदेश अध्यक्ष लल्लू

लखनऊ . उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों के लिए समाजवादी पार्टी (सपा) और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के साथ गठबंधन से वस्तुत: इनकार करते हुए कांग्रेस की प्रदेश इकाई के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने रविवार को कहा कि उनकी पार्टी केवल छोटे दलों के साथ गठबंधन करेगी और चुनावों के लिए किसी बड़े दल से हाथ मिलाने के बारे में विचार भी नहीं करेंगी. उन्होंने कहा कि पिछले 32 वर्षों में उत्तर प्रदेश पर शासन करने वाली भारतीय जनता पार्टी (भाजपा), बसपा और सपा की सरकारें लोगों के भरोसे पर खरा उतरने में नाकाम रहीं और कांग्रेस राज्य में वापसी करने के लिए तैयार है.

लल्लू ने कहा कि उत्तर प्रदेश के लोगों की नजरों में, अगले वर्ष होने वाले चुनावों में भाजपा को चुनौती देने वाली मुख्य पार्टी कांग्रेस ही है. प्रदेश के लोगों ने भरोसा जताया कि पार्टी प्रियंका गांधी वाड्रा के नेतृत्व में चुनाव जीतेगी और अगली सरकार का गठन करेगी. उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमिटी के अध्यक्ष ने कहा कि पार्टी प्रियंका गांधी की देखरेख में चुनाव लड़ेगी क्योंकि वह राज्य की प्रभारी महासचिव हैं और मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार कौन होगा, इस मुद्दे पर फैसला राष्ट्रीय नेतृत्व लेगा.
उत्तर प्रदेश चुनावों के लिए गठबंधनों पर कांग्रेस के रुख के बारे में पूछे जाने और सपा और बसपा के साथ गठबंधन की किसी संभावना पर लल्लू ने कहा, ‘गठबंधनों पर कांग्रेस का रुख साफ है. हम केवल छोटे दलों के साथ गठबंधन करेंगे. हम फिर से बड़े दलों के साथ गठबंधन करने के बारे में विचार भी नहीं करेंगे.’ पिछले 32 वर्षों में गैरकांग्रेसी सरकारों के कुशासन की बात करने वाली कांग्रेस की पुस्तिका को लेकर सपा और बसपा की प्रतिक्रिया की ओर इशारा करते हुए उन्होंने कहा कि साफ है कि गरीबों, किसानों, युवाओं और महिला सुरक्षा के मुद्दे पर हम छोटे दलों के साथ गठबंधन करेंगे.

लल्लू ने कहा, ‘हम मजबूत विपक्ष के तौर पर आगे बढ़ रहे हैं और प्रियंका गांधी के नेतृत्व में हम चुनाव जीतेंगे और 2022 में सरकार बनाएंगे.’ साथ ही कहा टवह गठबंधन के विषय पर छोटे दलों के साथ संपर्क में हैं लेकिन अभी ब्योरों पर बात नहीं कर सकते.’

सपा और बसपा दोनों ने कांग्रेस के साथ गठबंधन से इनकार किया है. सपा के अखिलेश यादव ने कहा कि पार्टी केवल छोटे दलों के साथ गठबंधन करेगी और मायावती ने कहा है कि बसपा अकेले चुनाव लड़ेगी. लल्लू ने दावा किया कि 2022 के चुनावों में सपा को भाजपा को मुख्य चुनौती देने वाली पार्टी बताना मीडिया की रचना है और असल में कांग्रेस ही भाजपा से मुकाबला करने के लिए मजबूती से खड़ी है.