Tuesday , October 4 2022

हम अजेय हैं, हम झुकेंगे नहीं: अभिषेक बनर्जी

नई दिल्ली: मनी लॉन्ड्रिंग मामले में समन मिलने के बाद टीएमसी नेता अभिषेक बनर्जी आज दिल्ली में ईडी के अधिकारियों के सामने पेश हुए. उनसे करीब आठ घंटे तक पूछताछ की गई. अभिषेक बनर्जी से यह पूछताछ जामनगर स्थित केंद्रीय एजेंसी के कार्यालय में हुई. अधिकारियों ने उनसे सुबह 11 बजे पूछताछ शुरू की थी. पूछताछ के बाद ईडी कार्यालय से बाहर आने के बाद उन्होंने बीजेपी पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि जो हमें राजनीतिक रूप से हरा नहीं सकते ऐसे निरंकुश कायरों के आगे झुकेंगे नहीं.

ईडी की गहन पूछताछ के बाद अभिषेक बनर्जी ने बीजेपी पर आरोप लगाते हुए कहा कि जो भी बीजेपी के खिलाफ लड़ता है उसे परेशान किया जाता है. यह मामला कोलकाता का है लेकिन मुझे पूछताछ के लिए दिल्ली बुलाया गया है. मुझसे पिछले 8 घंटों से पूछताछ की जा रही है. उन्होंने कहा कि मैं पहले दिन से कह रहा हूं कि अगर मेरे खिलाफ कोई सबूत है तो उसे सार्वजनिक करो. मैंने पहले भी कहा है कि अगर 10 पैसे के भी लेन देन में मेरी संलिप्तता पाई जाती है तो मैं सार्वजनिक रूप से फांसी लगा लूंगा.

टीएमसी सांसद ने कहा कि अगर कोई टीएमसी को जबरजस्ती रोकना चाहता है तो मैं उसे चुनौती देता हूं कि हमारे पीछे सीबीआई, ईडी, इनकम टैक्स दूसरी और भी एजेंसियां लगा दो फिर भी हम नहीं झुकेंगे. उन्हों कहा कि अगर बीजेपी को लगता है कि वह इस तरह से टीएसम को डरा सकती है और टीएमसी कांग्रेस और अन्य पार्टियों की तरह हार मान लेगी तो हम उन्हें बता दे कि हम मजबूती से लड़ेंगे.

टीएमसी नेता ने कहा कि बीजेपी की तानाशाही खत्म होगी. उन्होंने कहा कि आप मेरे शब्दों पर ध्यान दो बहुत जल्द बीजेपी के सारे संसाधन गिरने वाले हैं. टीएमसी अगले चुनाव में बीजेपी को हराएगी. हम हर उस राज्य पर जाएंगे जहां बीजेपी की सरकार है और जहां उन्होंने लोकतंत्र की हत्या की है. उन्होंने कहा कि टीएमसी दूसरी पार्टी की तरह घर पर नहीं बैठने वाली. बीजेपी के 25 विधायक लाइन पर लगे हैं लेकिन हम उन्हें नहीं ले रही हैं.

आपको बता दें कि अभिषेक बनर्जी पश्चिम बंगाल के डायमंड हार्बर सीट से सांसद हैं और वह तृणमूल कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव हैं. सीबीआई द्वारा अभिषेक बनर्जी के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने के बाद ईडी ने उन पर मनी लॉन्ड्रिंग का मामला दर्ज किया था. ईडी ने कोयला घोटाले में उनकी पत्नी रुजिरा बनर्जी को भी समन जारी किया था लेकिन उन्होंने छोटा बच्चा और कोरोना का हवाला देकर बयान दर्ज कराने के लिए दिल्ली आने से इनकार कर दिया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

seventeen + two =