Sunday , December 24 2023

सूखे और हीटवेव से परेशान जापान और चीन के लिए एक और बड़ी मुसीबत आने वाली  

सूखे और हीटवेव से परेशान जापान और चीन के लिए एक और बड़ी मुसीबत आने वाली है. दरअसल, इन दोनों देशों की चिंता 2022 के सबसे मजबूत ग्लोबल तूफान ने बढ़ा दी है, जो पूर्वी चीन सागर के पार जापान के दक्षिणी द्वीपों को खतरे में डाल सकता है. यूएस जॉइंट टाइफून वॉर्निंग सेंटर के अनुसार,  सुपर टाइफून हिनामनोर वर्तमान में लगभग 160 मील (257 किलोमीटर) प्रति घंटे की रफ्तार से चल रहा है. इसकी अधिकतम रफ्तार 195 मील प्रति घंटा दर्ज की गई है. इसकी वजह से लहर की ऊंचाई अधिकतम 50 फीट (15 मीटर) तक दर्ज की गई है.

अभी रयूकू द्वीप की ओर बढ़ने का अनुमान

जापान मौसम विज्ञान एजेंसी के एक अधिकारी के अनुसार, अभी तक इस तूफान की जितनी रफ्तार दर्ज की गई है उस आधार पर हिन्नमनोर 2022 का सबसे तेज और शक्तिशाली तूफान होगा. हॉन्ग कॉन्ग ऑब्जर्वेटरी ने कहा कि सुबह 10 बजे तूफान जापान के ओकिनावा से लगभग 230 किलोमीटर पूर्व में केंद्रित था और इसके पश्चिम-दक्षिण-पश्चिम की ओर लगभग 22 किलोमीटर प्रति घंटे की गति से रयूकू द्वीप की ओर बढ़ने का अनुमान है.

7 दशक में अगस्त में इससे पहले आए सिर्फ 2 तूफान, लेकिन ये सबसे तेज

हालांकि यूएस जेटीडब्ल्यूसी ने भविष्यवाणी की है कि आने वाले दिनों में सुपर टाइफून अपनी कुछ ताकत खो देगा. कोलोराडो स्टेट यूनिवर्सिटी के मौसमी तूफान पूर्वानुमान के प्रमुख लेखक फिल क्लॉट्ज़बैक ने बताया कि हम महासागर का रिकॉर्ड विस्तार से रखते हैं. सात दशकों से अधिक समय में केवल दो बार ही अगस्त में तूफान आय़ा है. पहला तूफान 1961 में और दूसरा 1997 में, लेकिन इन दोनों में उतनी तेजी नहीं थी जितनी इस बार के तूफान में है.