Sunday , December 24 2023

ट्रफ लाइन पूर्वी यूपी से खिसक रही, इसके कारण बादल छाए

पूर्वी यूपी से टर्फ लाइन खिसक रही है। बादलों की लुकाछिपी जारी है। रविवार को गोरखपुर में 19 मिलीमीटर बारिश हुई है। इस महीने करीब 75 मिली बारिश हो चुकी है। 1 सितंबर को सबसे अधिक 52 मिलीमीटर बारिश हुई।

ट्रफ लाइन पूर्वी यूपी से खिसक रही है। इसके कारण बादल छाए हुए हैं। हल्की बूंदाबांदी हो रही है। इस बीच मौसम विभाग ने लखनऊ, गोरखपुर समेत यूपी के 20 जिलों में बारिश की संभावना है। उधर, वाराणसी, गाजीपुर और प्रयागराज में गंगा उफनाई हुई है। इससे बाढ़ का खतरा बढ़ गया है। 

पूर्वी यूपी में सितंबर का पहला हफ्ता मानसून के नजरिए से राहत भरा रहा। इन दिनों मानसून सक्रिय है। रविवार को गोरखपुर में 19 मिलीमीटर बारिश हुई है। इसके साथ ही इस महीने अब तक करीब 75 मिलीमीटर बारिश हो चुकी है।

पूर्वी यूपी में बीते चार दिन से जिले में मानसून मेहरबान है। एक सितंबर को सबसे ज्यादा 52 मिलीमीटर बारिश हुई थी। दो सितंबर को करीब एक मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई। तीन सितंबर शनिवार को 4.6 मिलीमीटर बारिश हुई। रविवार को भी तड़के रिमझिम बारिश हुई। मौसम विभाग के मुताबिक रविवार को 19 मिलीमीटर बारिश दर्ज हुई।

गंगा किनारे के गांवों में बढ़ा बाढ़ का खतरा 

वाराणसी, गाजीपुर और प्रयागराज जैसे जिलों में गंगा के उफनाने से बाढ़ का खतरा बढ़ गया है। खेतों में पानी घुस जाने की वजह से फसलें चौपट हो गई हैं। निचले इलाके में रह रहे लोगों के घरों में भी पानी घुस गया है। प्रयागराज के कई हिस्‍सों में बाढ़ ने विकराल रूप ले लिया है। 

इन जिलों में विभाग ने जारी किया येलो अलर्ट

मौसम विभाग ने बारिश को लेकर जिन जिलों में अलर्ट जारी किया है उनमें लखनऊ, सिद्धार्थनगर, महाराजगंज, संतकबीरनगर, कुशीनगर, गोरखपुर, देवरिया, आजमगढ़, मऊ, बलिया, गाजीपुर, वाराणसी, सोनभद्र और चंदौली शामि