Tuesday , October 4 2022

चूड़ी बेचने वाले पर पॉक्सो एक्ट सहित 9 गंभीर धाराओं में एफआईआर

इंदौर. इंदौर में चूड़ी वाले की पिटाई के मामले में नया मोड़ आ गया है. पुलिस ने चूड़ी बेचने वाले युवक गोलू उर्फ तस्लीम उर्फ असलीम पर पॉक्सो एक्ट समेत 9 गंभीर धाराओं में केस दर्ज कर लिया है. फर्जी पहचान पत्र और नाबालिग बच्ची के साथ छेड़खानी के मामले में युवक पर एफआईआर दर्ज की गयी है.

कोतवाली थाने पर हंगामा करने वाले करीब 30 लोगों के खिलाफ भी FIR की है. इस मामले में तीन आरोपियों को पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है. पुलिस का कहना बाकी तीन और आरोपियों को जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा. इंदौर के दोनों मंत्रियों ऊषा ठाकुर और तुलसी सिलावट ने दोषियों पर कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए हैं.

इंदौर के वाणगंगा थाना क्षेत्र के गोविंद नगर में चूड़ी बेचने वाले मुस्लिम युवक से मारपीट करने वाले तीनों प्रमुख आरोपी राकेश पवार, राजकुमार भटनागर और विवेक व्यास को पुलिस ने पहले ही 24 घंटे के अंदर गिरफ्तार कर लिया था. इनमें से एक की गिरफ्तारी ग्वालियर से हुई है. एसपी ईस्ट आशुतोष बागरी ने बताया कि बाकी आरोपियों की पहचान कर ली गई है उन्हें भी जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा. वहीं सेंट्रल कोतवाली थाने का घेराव करने वाले 25 से 30 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है. उसमें 3 नामजद आरोपी भी शामिल हैं.

कलेक्टर मनीष सिंह ने कहा कि सेंट्रल कोतवाली थाने पर हुए प्रदर्शन में पीएफआई का हाथ सामने आया है. हम शांति बनाकर रख रहे हैं. थाने पर कल का प्रदर्शन आपत्ति जनक है. इसमें एसडीपीआई और पीएफआई के लोगों का हाथ सामने आया है. एसडीपीआई और पीएफआई पर इंटलिजेंस भी नज़र रख रहा है. जो भी माहौल बिगाड़ने का काम कर रहा है उस पर सख्त कार्रवाई होगी. इन संगठनों के पदाधिकारी युवाओं को भड़काने की साजिश कर रहे हैं. इसे बिलकुल भी बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. इनके खिलाफ ना केवल एफआईआर होगी,बल्कि जरूरत पड़ने पर जिलाबदर की भी कार्रवाई की जाएगी.

इस घटना पर इंदौर के दोनों मंत्रियों ने भी पुलिस को फ्री हैंड देते हुए दोषिय़ों पर सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए हैं. जल संसाधन मंत्री तुलसी सिलावट ने कहा सांप्रदायिक फिजा बिगाड़ने वालों को नहीं बख्शेंगे. आतंकी संगठनों की भूमिका के सवाल पर मंत्री ने कहा गहन जांच होगी. आतंकी संगठनों की जड़ों तक जाकर नेस्तनाबूद करेंगे. पर्यटन संस्कृति मंत्री ऊषा ठाकुर ने कहा ये चिंतनीय घटना है. थाने का घेराव करने वालों पर देशद्रोह का मामला चलाया जाना चाहिए. इन लोगों का साथ देने वाले भी देशद्रोही हैं. इस प्रदर्शन में कांग्रेसी जनप्रतिनिधियों का शामिल होना शर्मनाक है.

शहर में 15 अगस्त से लेकर अब तक नायता मुडंला, राजबाड़ा, बंबई बाजार और बाणगंगा में सांप्रदायिक सौहार्द्र बिगाड़ने की घटनाएं हुई हैं. इनसे सख्ती से निपटने की जरूरत है,जिससे इस तरह की घटनाएं दोबारा न हों.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

twenty − 3 =