Sunday , December 24 2023

ग्लोबल इनोवेशन इंडेक्स में भारत ने 40वां रैंक हासिल किया..

ग्लोबल इनोवेशन इंडेक्स में भारत ने 40वां रैंक हासिल किया है जो 2015 में 81 वें रैंक पर था। बेहतर रैंक हासिल करने के पीछे भारत का टैलेंट है। यह बात बेंगलुरु टेक समिट में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा। बेंगलुरु में मंगलवार को आयोजित टेक समिट के दौरान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का प्री-रिकार्डेड वीडियो संदेश प्रसारित किया गया। इसमें प्रधानमंत्री मोदी ने भारत के टैलेंट की सराहना की और कहा कि इसके बदौलत ही आज देश ने ग्लोबल इनोवेटिव इंडेक्स में बेहतर दर्जा हासिल किया है। 

Bengaluru Tech Summit 2022 

बेंगलुरु टेक समिट-2022 के 25वें संस्करण के उद्घाटन के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का वीडियो संदेश प्रसारित किया गया। प्रधानमंत्री मोदी ने अपने प्री-रिकार्डेड संदेश में कहा, ‘भारत ने इस वर्ष ग्लोबल इनोवेटिव इंडेक्स में 40वां रैंक हासिल किया है। साल 2015 में हम 81वें स्थान पर थे। भारत अब दुनिया में तीसरा सबसे बड़ा स्टार्टअप हब है। इसके पीछे देश का टैलेंट पूल है। बेंगलुरू प्रौद्योगिकी का गढ़ है। यह एक समावेशी और एक इनोवेटिव शहर है। कई सालों से बेंगलुरू इंडिया इनोवेटिव इंडेक्स के पहले पायदान पर रहा है।’ 

बढ़ा Broadband Connection का आंकड़ा 

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘ 8 सालों में ब्रॉडबैंड कनेक्शन का आंकड़ा 60 मिलियन से 810 मिलियन पर आ गया है। स्मार्टफोन यूजर्स का आंकड़ा भी बढ़ा है पहले यह 150 मिलियन था। अब यह   750 मिलियन हो गया है। ग्रामीण इलाकों में इंटरनेट की पैठ बन रही है।’

गरीबी के खिलाफ हथियार है तकनीक

प्रधानमंत्री ने आगे कहा, ‘ कोरोना महामारी के दौरान कम बजट में डाटा से गरीब छात्रों को खूब मदद मिली। इतनी कम कीमत में डाटा नहीं होने से पूरे दो साल तक गरीब परिवार के बच्चे शिक्षा से वंचित रह जाते। भारत में तकनीक का उपयोग गरीबी के खिलाफ हथियार के तौर पर हो रहा है।’